देश में अब तक 9,400 से अधिक प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोले जा चुके हैं और सरकार इनकी संख्या को और बढ़ाने पर ध्यान दे रही है।

Credit:Google

इनमें से 1,000 केंद्र अगस्त 2023 तक खोले जाएंगे, जबकि शेष 1,000 केंद्र साल के अंत तक यानी दिसंबर 2023 तक चालू हो जाएंगे।

Credit:Google

इन केंद्रों में 1800 प्रकार की दवाएं और 285 चिकित्सा उपकरण रखे गए हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जनऔषधि केंद्रों पर ब्रांडेड दवाओं की तुलना में 50 से 90 प्रतिशत कम कीमत पर दवाएं उपलब्ध हैं।

Credit:Google

प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आपको 5,000 रुपये के शुल्क के लिए आवेदन करना होगा। इन केंद्रों को खोलने के लिए आवेदक डी. फार्मा या बी. फार्मेसी की पढ़ाई की होनी चाहिए।

Credit:Google

प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खुलने के बाद सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। 5 लाख रुपये या अधिकतम 15,000 रुपये तक की दवा खरीद पर 15 प्रतिशत की छूट।

Credit:Google

इसके अलावा दुकान के इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए सरकार 2 लाख रुपए की सहायता देती है।

Credit:Google

आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज- आधार कार्ड, फार्मासिस्ट रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, मोबाइल नंबर, एड्रेस प्रूफ। आवेदन करने के लिए इस आधिकारिक वेबसाइट janaushadhi.gov.in पर जाएं

Credit:Google

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरें सिर्फ 2 मिनट में घर बैठे, जाने पूरी जानकारी!

Credit:Google